Husband was spying wife in Delhi Three People Arrested


खास बातें

  1. पत्नी की जासूसी करवाता था पति
  2. तीन लोगों को जासूसी के लिए किया था हायर
  3. पुलिस ने तीनों जासूसों को पकड़ा

नई दिल्ली:

दिल्ली से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक शख्स पर अपनी ही पत्नी की जासूसी का आरोप लगा है. जानकारी के अनुसार, दिल्ली के बेहद पॉश खान मार्केट से सोमवार को दिल्ली पुलिस को एक महिला ने पीसीआर कॉल कर बताया कि कुछ लोग उसका पीछा कर रहे हैं. इतने अतिसुरक्षित इलाके में महिला की मुश्किल जानकर तुरंत तुगलक रोड थाने से सब इंस्पेक्टर ऋषिकेश अपने स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे, वहां एक 34 साल की महिला जो पंजाबी बाग की रहने वाली है मिली. महिला ने बताया कि पिछले 3-4 दिनों से 3 लोग उसका पीछा कर रहे हैं. 

महिला को था अवैध संबंधों का शक, रात में सो रहे पति का काट डाला प्राइवेट पार्ट

महिला ने बताया कि उसकी पीछा करने वाले लोगों में से वो किसी को नहीं जानती. महिला ने पुलिस को बताया कि  इन लोगों ने पहले लीला होटल में उसका पीछा किया और फिर खान मार्केट में. उसके बाद महिला ने अपने रिश्तेदार को बुला लिया और फिर तीनों पकड़ में आए. पकड़े गए लोगों में शाहदरा का रहने वाला हेमंत अग्रवाल ,भजनपुरा का बाबर और मयूर विहार का अमित है. इनमें हेमंत अग्रवाल ने बताया कि महिला के पति ने उन्हें महिला पर नज़र रखने के लिए उन्हें हायर किया था. पुलिस ने केस दर्ज कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

बिहार: शराब की पेटियों के साथ 5 पुलिसकर्मी गिरफ्तार, बैरक को बना रखा था गोदाम


बाद में तीनों आरोपियों को जमानत मिल गई. तीनों एक डिटेक्टिव एजेंसी में काम करते हैं. पुलिस के मुताबिक, महिला का पति कारोबारी है जो महिला पर शक करता है.

टिप्पणियां

VIDEO: 6 मिस कॉल, 1.86 करोड़ ग़ायब



Source link

Dewas : Congress workers accused of beating two people


खास बातें

  1. एक पीड़ित ने खुद को मंत्री जीतू पटवारी का रिश्तेदार बताया
  2. जीतू पटवारी ने रिश्तेदार होने से किया इनकार
  3. पुलिस ने बड़ी मशक्कत करके दोनों को बचाया

भोपाल:

मध्यप्रदेश के देवास में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर कुछ लोगों की पिटाई का आरोप लगा है. जिनकी पिटाई हुई वे खुद को मजदूर संगठन से जुड़ा बता रहे हैं.

पीड़ितों का यह भी कहना है कि कर्जमाफी के संबंध में वे किसानों की दिक्कतें बताने वहां आए थे. इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं से उनकी कहासुनी हो गई और उन्होंने दो लोगों की पिटाई कर दी. पुलिस ने बड़ी मशक्कत करके उनको बचाया.

दोनों पक्षों के बीच पहले जमकर बहस हुई थी. इसके बाद अचानक विवाद बढ़ा और कई कार्यकर्ता दोनों लोगों को पीटने लगे.

VIDEO : कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिफ्ट देगी मध्यप्रदेश सरकार

टिप्पणियां

पिटने वाले शख्स का कहना है कि वह उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी का रिश्तेदार है, हालांकि मंत्री ने ऐसी किसी बात से इनकार किया है.



Source link

Govinda And I Have Maximum Enemies, People Want Us Finished Off: Pahlaj Nihalani


New Delhi: 

Rangeela Raja, Pahlaj Nihalani-backed comeback vehicle for Govinda, did not open well. Mr Nihalani says it is because his film did not get the theatres required as the entertainment industry is run by a “glamorous mafia.” “I am being targeted for my blunt views on the workings of the Central Board of Film Certification (CBFC), and because of me, my leading man Govinda is being targeted. If you ask me, Govinda and I have the maximum number of enemies in the film industry,” Mr Nihalani said.

Speaking about the lack of theatres for Rangeela Raja, the former CBFC chief says he was refused a release in places like Bihar and Jharkhand.

“These are traditional strongholds of Govinda. And not a single theatre in Patna or Ranchi agreed to play Rangeela Raja. Why? Because my film is bad? Are only quality films released in theatres? And who decides that my film is substandard? A handful of critics for whom I did not have a press show, so they are upset with me and they are taking it out on my film,” he said.

Mr Nihalani also says he suspects the hands of some big guns in sabotaging Rangeela Raja.

“I know who they are. I know the people who want to finish off Govinda and me. The entertainment industry is run by a glamorous mafia. They all sit, eat, sleep and make movies together. Solo producers like me with no corporate backing are being pushed out of the film industry in the name of corporotisation,” he said.

But Mr Nihalani says he isn’t going away anywhere. “I belong to this industry as much as those who are currently monopolising the A-list stars. I will make another film with Govinda and prove he too is an A-list star,” he said.

Mr Nihalani says he has always believed in introducing new talent and will continue to do so.

“I introduced Govinda and Chunky Pandey. In Rangeela Raja I’ve introduced Mishika Chourasia. I am confident she has a very bright future. Unless the industry will punish her for being Pahlaj Nihalani’s protege.”

(This story has not been edited by NDTV staff and is auto-generated from a syndicated feed.)





Source link

Madhya Pradesh Minister Govind Singhn says- RSS Training People To Make Weapons, Atom Bomb – मध्य प्रदेश: मंत्री बोले- RSS दे रहा है हथियार, परमाणु बम और ग्रेनेड बनाने की ट्रेनिंग, शिवराज का पलटवार


भोपाल:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के कैबिनेट मंत्री ने आरएसएस (RSS) पर निशाना साधते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ लोगों को ‘हथियार, बम, परमाणु बम, ग्रेनेड और ट्रिगर बलास्ट बनाने की ट्रेनिंग दे रहा है.’ मंत्री गोविंद सिंह (Dr. Govind Singh)ने यह बयान भाजपा (BJP)के राज्य में कानून एवं व्यवस्था पर सवाल उठाने के बाद दिया है. स्थानीय मीडिया से बात करते हुए सिंह ने कहा, ‘आरएसएस हथियार, बम, परमाणु बम और ग्रेनेड बनाने की ट्रेनिंग दे रहा है.’ सिंह की मध्य प्रदेश में वरिष्ठ कांग्रेस नेता के रूप में गिनती होती है. दिग्विजय सिंह के कार्यकाल के दौरान वे गृहमंत्री थे. वे भिंड जिले की लहार सीट से सात बार से विधायक हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पर यह कहते हुए टिप्पणी की कि यह कांग्रेस के “मानसिक दिवालियापन” को दर्शाता है. शिवराज सिंह ने ट्वीट किया, ‘सीएम कमल नाथ जी के मंत्री डॉ. गोविंद सिंह की ‘आरएसएस हथियार और ग्रेनेड बनाने की ट्रेनिंग दे रहा है’ टिप्पणी बेहद हास्यास्पद और अज्ञानता का प्रतीक है. एक राष्ट्रवादी संगठन जो कि पिछले 94 साल से देश के चरित्र निर्माण के लिए काम कर रहा के बारे में ऐसी टिप्पणी कांग्रेस का मानसिक दिवालियापन को दर्शाता है.’

मध्य प्रदेश: 24 घंटे के भीतर दूसरे बीजेपी नेता पर हमला, एक की हत्या तो दूसरे से लाखों की लूट, कानून व्यवस्था पर उठे सवाल 

बता दें, रविवार को बड़वानी जिला मुख्यालय से करीब 100 किलोमीटर दूर बलवाड़ी कस्बे में रविवार को सुबह की सैर पर गए भाजपा के बलवाड़ी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की कथित रूप से हत्या कर दी गई. पिछले चार दिनों में प्रदेश में यह भाजपा के दूसरे स्थानीय नेता की हत्या है. इससे पहले भाजपा के मंदसौर नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की कथित रूप से मनीष बैरागी ने बृहस्पतिवार को मंदसौर के एक व्यस्त चौराहे पर नजदीक से पिस्तौल से गोली मारकर हत्या कर दी थी. बैरागी को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

मध्य प्रदेश में ‘वर्दी की गुंडागर्दी’: सरेआम ट्रक ड्राइवर को नीचे उतार तड़ातड़ जड़े थप्पड़, देखें VIDEO

बड़वानी जिले के पुलिस अधीक्षक यांगचेन डोलकर भुटिया ने बताया था, ‘हमें मनोज ठाकरे का शव रविवार सुबह बरामद मिला. उनके चेहरे एवं गले के पास चोट के निशान थे. वह सुबह होने से पहले अंधेरे में ‘मार्निंग वाक’ पर गये थे. जिस सड़क के पास उनका शव मिला है, उस पर बहुत ही कम यातायात रहता है. पुलिस को सुबह करीब 6.40 बजे घटना की जानकारी मिली और कुछ मिनट में ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई’

मध्य प्रदेश में एक और बीजेपी नेता की हत्या, शिवराज ने ‘बड़ी साजिश’ बता CM कमलनाथ को दी यह चेतावनी

उन्होंने कहा कि उनकी मौत के कारण एवं आरोपी को बेनकाब करने के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन कर दिया गया है. इसी बीच, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘एक के बाद एक भाजपा नेताओं की हत्या होना बहुत गंभीर मामला है. कांग्रेस इसको सतही तौर पर लेकर क्रूर मजाक कर रही है. (मध्य प्रदेश के) गृह मंत्री (बाला बच्चन) के गृह जिले में सरेआम भारतीय जनता पार्टी के लोकप्रिय मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे को मार दिया गया.’

DM ने जूनियर महिला अधिकारी से कहा: ‘अगर SDM बनना है तो कैसे भी करके BJP को जिताओ’, पढ़ें कथित वायरल Chat

VIDEO- बीजेपी नेता की हत्‍या पर बोले शिवराज सिंह चौहान, मन में गुस्सा और दुख है

 



Source link

Yogendra Yadav Calls Leaders At Anti-BJP Kolkata Rally Hollow People With No Ideology


Yogendra Yadav said the grand alliance is only an opposition but not an alternative to the BJP government

Kolkata: 

Casting apprehensions on the agenda of the grand alliance stitched together by opposition parties, Swaraj India president Yogendra Yadav on Sunday said the “Mahagathbandhan” is a “big joke” and filled with “hollow people” with no ideology.

He said all the leaders in the grand alliance, who are portraying themselves as anti-BJP or anti-Modi (Prime Minister Narendra Modi), were equally anti-democracy and corrupt.

“There was a huge gathering (in Kolkata). But, where is the ideology? What is your agenda. There was no discussion on that. You had no talks on the problems the farmers are facing, and on unemployment. I believe this coalition lacks vision,” Mr Yadav told PTI.

The politician-activist was referring to Saturday’s mega rally organised by the Trinamool Congress in Kolkata, where leaders from over a dozen opposition parties came together, vowing to put up a united fight in the upcoming Lok Sabha elections.

“They are saying that Narendra Modi is anti-democracy, but what about (West Bengal Chief Minister) Mamata Banerjee? She is also the same. She has not allowed the panchayat elections to take place peacefully. She does not allow the opposition to host any rally here. You are carrying out rowdyism in your state.

“And (NCP leader) Sharad Pawar, (Samajwadi Party chief) Akhilesh Yadav and (Bahujan Samaj Party chief) Mayawati all are claiming of saving the country from corruption. This is a big joke. This grand alliance is full of hollow people,” he said.

Mr Yadav said the grand alliance is only an opposition but not an alternative to the BJP government at the centre.

“The country at the moment requires an alternate government instead of opposition. I think national politics is under threat,” he said.

The former Aam Aadmi Party leader wondered where were the leaders of the “Mahagathbandhan” in the last five years, when there were many incidents of farmer suicides and movements organised by unemployed youths.

“These politicians were sitting in Parliament all these years, while the struggles were led by farmers, youths and Dalit organisations. They are the ones who fought on the streets. We need to form their (farmers, youths) coalition,” he said.

Mr Yadav said his party is focusing on coming up with an alternative of a strong opposition by the people against the government.

“People have to build up a strong opposition against the current government, which can be sustained for a long time. We are trying to build that alternative. We need a coalition of social movement,” he said.

Launching Swaraj India’s ”#iCan19” – Indian Citizens” Action for Nation, 2019 – an initiative for citizens to intervene in electoral politics, Mr Yadav said he is hopeful that his party would have an effect on the electoral process.

“We have no capacity of fighting hundreds of seats. We would make a very limited intervention in a select few seats… That is our effort,” Mr Yadav added.





Source link

Arvind Kejriwal said that greedy and dirty people left the Aam Aadmi Party – अरविंद केजरीवाल ने कहा


नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (आप) की पंजाब इकाई नेतृत्व में गुटबाजी का सामना कर रही है, यह जिक्र किए जाने पर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने यहां रविवार को कहा कि ‘गंदे लोगों’ ने पार्टी छोड़ दी है. पार्टी अब एकजुट है. पंजाब के बरनाला कस्बे में एक रैली के दौरान केजरीवाल ने कहा, “आप को तोड़ने की कोशिशें होती रही हैं. मैं आप लोगों से कहता हूं कि आप हमेशा की तरह मजबूत है. सिर्फ गंदे लोगों ने पार्टी छोड़ी है. आप एकजुट और मजबूत है.”

यह भी पढ़ें- ममता के मंच से अरविंद केजरीवाल की हुंकार: मोदी-शाह ने 5 साल में वो कर दिया जो पाकिस्तान अब तक न कर सका

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘लालची लोगों’ ने पार्टी छोड़ दी है और वे पार्टी का हिस्सा बने रहने के लिए उपयुक्त नहीं थे. अरविंद केजरीवाल ने रविवार को लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत की.संगरूर से आप के सांसद भगवंत मान की तारीफ करते हुए पार्टी प्रमुख ने कहा कि मान व अन्य लोग पंजाब में आप का परचम लहरा रहे हैं.केजरीवाल ने कहा कि मान के नेतृत्व में आप पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर लड़ेगी.

उन्होंने पंजाब में फरवरी, 2017 के विधानसभा चुनाव में लोगों से किए वादे पूरे न करने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के नेतृत्ववाली कांग्रेस सरकार पर हमला बोला.केजरीवाल ने कहा, “मुझे बताइए, क्या किसानों के सभी कर्ज माफ हो गए? अमरिंदर सिंह की सरकार ने लोगों को निराश किया है.”उन्होंने कहा कि दिल्ली में आप सरकार ने स्कूलों और स्वास्थ्य सेवाओं में मूलभूत बदलाव लाया है. 

टिप्पणियां

वीडियो- देश का किसान और जवान दोनों दुखी है: अरविंद केजरीवाल 



Source link

With New App, People Can Now Click To Pray With Pope Francis


With the new app called “Click and Pray”, users can join Pope Francis in his prayers.

Vatican City: 

Pope Francis swiped a tablet on Sunday to launch a new app allowing the faithful to pray with him, and expressed his pain over the car bomb blast in Colombia and the latest Mediterranean migrant tragedy.

He presented the Vatican’s latest digital platform, known as the Worldwide Network of Prayer with the Pope, during his traditional Sunday address to tens of thousands of people in St. Peter’s Square.

The new app, called Click to Pray, will inform the user what the leader of the world’s 1.3 billion Roman Catholics is praying for, such as world peace or the population of a country hit by a natural disaster, so they can join him.

Francis, who once said he was a “disaster” with technology, turned to a priest holding the tablet for him and asked “Did I do it?” The priest nodded.

A Vatican statement said a website, www.clicktopray.org, would allow the faithful to “accompany the pope in a mission of compassion for the world”.

Minutes earlier, the pope told the crowd: “Today, I have two pains in my heart. Colombia and the Mediterranean.”

“I am thinking of the 170 victims in the Mediterranean. They were looking for a future for their lives and perhaps they were victims of human traffickers. Let us pray for them and for those who are responsible for what happened,” he said.

The migrants were believed to have been lost in the Mediterranean in two incidents involving dinghies that left from Libya and Morocco.

Speaking of Colombia, he called the car bomb at a police academy on Thursday that killed at least 21 and injured dozens “a terrorist attack”.

Colombia’s President Ivan Duque said the rebel group ELN was responsible.

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a syndicated feed.)





Source link

Clarify On Rafale Or People Will Say “Chowkidaar Chor Hai”


Kolkata: 

BJP leader Shatrughan Sinha today stepped up his attack on Prime Minister Narendra Modi on the controversial Rafale fighter jet deal and said he must answer his three questions else he will have to hear “chowkidaar chor hai (watchman is a thief)”.

Addressing the grand opposition meet in Kolkata, he urged Prime Minister Modi to “clarify why he scrapped a deal for 126 aircraft and signed a new one for only 36. Mr Sinha cited a report on the Rafale deal that was published by The Hindu to say that the prices jumped 41 per cent in the new deal.

PM Modi must explain why he decided to pay three times more for the same fighter jet.

“Why was Hindustan Aeronautics Limited, which has experience of manufacturing MiGs and Sukhoi sidelined and a 10-day-old company with (virtually) zero balance and zero experience given the contract?” was the BJP lawmaker’s next question.

The actor-turned-politician accused the Prime Minister of making hollow promises and indulging in rhetoric and it won’t work anymore. 

“The people of the country can see through,” he said.





Source link

93 Percent People In Delhi Are Not Aware About Air Quality Index: Survey


80 per cent of the respondents said that they had not seen any LED screens showing levels of air quality.

New Delhi: 

About 93 per cent of Delhiites do not understand the Air Quality Index and its six categories, a survey of 10 most polluted areas of Delhi revealed on Friday.

Conducted by the United Residents Joint Action (URJA), a collective of the city’s resident welfare associations and ARK foundation, the survey interacted with 509 residents from Anand Vihar, Ashok Vihar, Dwarka, ITO, Lodhi Road, Patparganj, Rohini, R K Puram, Siri Fort, and Bawana.

The respondents — minimum 50 people each from the 10 localities– did not know the meaning of AQI and when the air in the national capital is categorised as good, moderate, poor or severe.

The survey showed that 89 per cent of the respondents were not aware about the air pollution monitors installed in their areas.

The questionnaire was given across the wards spread in a two-km radius around the identified locations where air quality monitors have been installed.

Eighty-eight per cent of the respondents said that they had not seen any LED screens showing the different levels of air quality, the survey said, adding that 71 per cent of the respondents were not satisfied with the air quality in Delhi.

While 58 per cent respondents said that they were affected by pollution, 42 per cent said they were unaffected.

Further, 28 per cent people admitted to facing difficulty in breathing due to poor quality of air and 20 per cent said that they were take extra care of their skin.

Another 16 per cent said they felt depressed due to the blanket of smog enveloping the national capital.

The questionnaire asked the respondents a mix of closed-ended and open-ended questions.





Source link

NDTV Exclusive :Ten Lakh people in crisis due to pollution of power plant in Delhi


नई दिल्ली:

एक तरफ प्रदूषण से बुरी तरह घिरे दिल्ली शहर को प्रदूषण मुक्त करने के लिए विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं और दूसरी तरफ शहर के बीचोंबीच भारी प्रदूषण फैला रहे एक बिजली उत्पादन प्लांट को न सिर्फ अनदेखा किया जा रहा है बल्कि अब इसकी क्षमता भी बढ़ाई जा रही है. ओखला में स्थित इस प्लांट के प्रदूषण से करीब 10 लाख की आबादी प्रभावित हो रही है.

    

दिल्ली के सुखदेव विहार, जसोला, सरिता विहार, अबुल फजल, हाजी कॉलोनी, गफ्फार मंजिल, जौहरी फार्म, शाहीन बाग ईश्वर नगर, ज़ाकिर बाग सहित अन्य कॉलोनियों में रहने वाले लाखों लोग दिल्ली सरकार द्वारा तिमारपुर-ओखला वेस्ट मेनेजमेन्ट कंपनी के 16 मेगावाट के प्लांट की क्षमता 40 मेगा वाट करने के फैसले से भयभीत हैं. साउथ ईस्ट जिलाधिकारी ऑफिस ने प्लांट को 40 मेगा वाट करने के फैसले को लेकर 16 जनवरी को  जनसुनवाई आयोजित की थी. आसपास के निवासियों ने इस जनसुनवाई के खिलाफ प्रदर्शन किया जिसकी वजह से सुनवाई को स्थगित करना पड़ा.

सुखदेव विहार रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के रंजीव देवराज और जसोला हाइट्स के एसोसिएशन के अध्यक्ष शकील अहमद ने एनडीटीवी से कहा कि इस प्लांट में लगभग दो हजार टन कूड़ा जलाया जाता है, जिससे चिमनी के ज़रिए उठने वाले ज़हरीले धुंए से आसपास के 10 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हो रहे हैं. जब सड़क पर कूड़ा जलने से फैलने वाले प्रदूषण पर सरकार गंभीर कार्रवाई करती है तो प्लांट से उठने वाले जहरीले धुंए को लेकर सरकार क्यों गंभीर नहीं है? जबकि इस इलाके का एक्यू 1400 को पार कर गया है. ये विचारणीय विषय है. उन्होंने कहा कि ग्रीन बेल्ट के ऊपर लगा यह प्लांट नियमों को अंगूठा दिखा रहा है. नियम के अनुसार ऐसे प्लांट आबादी वाले इलाके से बाहर लगाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें : प्रदूषण पर बोले सुप्रीम कोर्ट के जज: दिल्ली गैस चैंबर बनी, अब यह रहने लायक नहीं, रिटायरमेंट के बाद नहीं रहूंगा

रंजीत देवराज ने कहा कि अभी जनसुनवाई भी नहीं हुई है तो फिर किस आधार पर इस प्लांट में नई चिमनियों का निर्माण किया गया. बिजली बनाने के नाम पर प्लांट में तीन बड़े बॉयलर लगाए गए. किसी कारण से अगर ये फटता है तो प्लांट से सटे रिहायशी इलाके में रह रहे सैकड़ों लोग मौत के मुंह में समा जाएंगे. क्या किसी बड़े हादसे का सरकार इंतजार कर रही है?   

ऑल इंडिया मिल्ली काउंसिल दिल्ली स्टेट के जनरल सेक्रेटरी और शाहीन बाग निवासी शकीलुर रहमान ने एनडीटीवी को बताया कि इस प्लांट के चारों ओर 3-4 किलोमीटर के दायरे में कई बड़े अस्पतालों के अलावा जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय है. प्लांट से निकलने वाले जहरीले धुंए से पूरे क्षेत्र में हमेशा बीमारियों का प्रकोप रहता है. बच्चे तरह-तरह की बीमारियां से जूझ रहे हैं. शकील कहते हैं कि जल्द ही वे केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन से मिलेंगे. उन्हें एक मेमोरंडम दिया जाएगा और मांग की जाएगी कि प्लांट को तत्काल रिहायशी इलाके से बाहर शिफ्ट किया जाए.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर, ट्रकों के प्रवेश पर 24 घंटे की पाबंदी 

वॉलेंटियर्स ऑफ चेंज के कन्वीनर अब्दुल रशीद अगवान ने एनडीटीवी को बताया कि दिल्ली में प्रति दिन निकलने वाला कूड़ा एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है. ऐसे में कूड़े से बिजली बनाना काफी विशेषज्ञों को व सरकारों को भी एक बहुत अच्छा पर्यावरणीय विकल्प लगता है. मगर सवाल यह है कि इस विकल्प की तकनीक कौन सी होनी चाहिए? देश में इस तरह की सात परियोजनाएं बंद हो चुकी हैं और फिर भी इस परियोजना के लिए जनसुनवाई का झूठा नाटक करने की आवश्यकता क्यों? न तो कंपनी ने आज तक नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों का पालन किया और न अब तक इसके बुरे प्रभावों पर कोई काम किया. चिमनियों से निकलने वाले धुंए से हो रहे नुकसान का आकलन तक नहीं हुआ, मगर लोग जरूर उसको झेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि परियोजना से निकलने वाली फ्लाई ऐश का निस्तारण तक नहीं हुआ? इस परियोजना से ओखला क्षेत्र के पेड़ मर रहे हैं.

एडीएम (साउथ-ईस्ट) राजीव सिंह प्रहार ने एनडीटीवी से कहा कि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा हमको निर्देश मिला था कि तिमारपुर-ओखला वेस्ट मेनेजमेन्ट कंपनी के 16 मेगावाट के प्लांट को 40 मेगावाट करने के लिए जनसुनवाई रखी जाए. इसके मद्देनजर हमने जनसुनवाई रखी, लेकिन परियोजना स्थल के आसपास के निवासियों ने विरोध जताया. इस कारण जनसुनवाई को रद्द करते हुए डीपीसी और जिलाधिकारी साउथ-ईस्ट जिला को अगली जनसुनवाई की तारीख के लिए लिखा गया है. जनसुनवाई एवं अन्य प्रक्रिया के बाद ही इस परियोजना को 40 मेगावाट करने की मंजूरी मिल सकती है.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के बीच अरविंद केजरीवाल बोले, जरूरत पड़ी तो लागू करेंगे ऑड-ईवन स्कीम

सूत्र कहते हैं कि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ऐसी योजनाओं की स्वीकृति से पहले स्थानीय जिलाधिकारी के जरिए जनसुनवाई कराकर स्थानीय लोगों की राय लेता है. इसके बाद उसकी रिपोर्ट केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के पास भेजी जाती है. फिर उस प्रोजेक्ट पर निर्णय लेना केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय का जिम्मा होता है. केंद्रीय पर्यावरण सचिव सीके मिश्रा ने एनडीटीवी से कहा कि वेस्ट टेक्नालॉजी एक क्लीन टेक्नालॉजी है. वैसे तो इससे नुकसान का सवाल पैदा नहीं होता है लेकिन अगर ऐसी कोई शिकायत आती है तो हम लोग गंभीरता से कदम उठाते हैं. उन्होंने कहा कि तिमारपुर-ओखला वेस्ट मेनेजमेन्ट कंपनी के 16 मेगावाट के प्लांट को 40 मेगावाट करने का मुद्दा है. वह दिल्ली पर्यावरण मंत्रालय के अधीन आता है.

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने एनडीटीवी से कहा कि तिमारपुर-ओखला वेस्ट मेनेजमेन्ट कंपनी के 16 मेगावाट के प्लांट को 40 मेगावाट करने पर अगर लोगों को कोई शिकायत है, प्लांट के प्रदूषण से उनको नुकसान है और वहां के लोग कोई शिकायत मेरे पास लेकर आते हैं तो मैं इसे गंभीरता से लूंगा. इस मुद्दे को लेकर दिल्ली सरकार को भी लिखूंगा. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की हमेशा से कोशिश रही है कि जनता को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए.

 

pq8cmlh4

प्लांट की क्षमता बढ़ाने के लिए आयोजित जनसुनवाई का स्थानीय लोगों ने विरोध किया.

बिजली और खाद उत्पादन के लिए यह प्लांट लगाया गया था लेकिन अब इसकी वजह से बीमारियां बढ़ रही हैं. प्लांट से निकलने वाला जहरीला धुंआ लोगों की ज़िंदगी में ज़हर घोल रहा है. पैदा होने से पहले ही नौनिहालों को इस प्लांट के प्रदूषण का प्रकोप झेलना पड़ रहा है. यही वजह है कि प्लांट के आसपास दिव्यांग बच्चे जन्म ले रहे हैं. प्रदूषण का बुरा असर निवासियों में सांस की गंभीर बीमारियों से लेकर कैंसर तक के रूप में देखा जाने लगा है. सरकार द्वारा इस गंभीर समस्या का समाधान किया जाना बहुत जरूरी है.

VIDEO : बिजली प्लांट से निकल रही घातक गैस

लगातार बढ़ता प्रदूषण देश की राजधानी के लिए संकट बन चुका है. यहां तक कि सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली के प्रदूषण और जाम के मामले की सुनवाई के लिए बनाई गई स्पेशल बेंच के जस्टिस अरुण मिश्रा को कहना पड़ा कि दिल्ली गैस चैम्बर बन गई है, यह रहने लायक नहीं है. उन्होंने कहा कि  वे रिटायरमेंट के बाद दिल्ली छोड़कर चले जाएंगे. इससे पहले जस्टिस मदन भीमराव लोकुर भी प्रदूषण को लेकर कठोर टिप्पणी कर चुके हैं.



Source link