TMC Attacks Amit Shah Speech Malda BJP Paschim Bengal – अमित शाह पर TMC का पलटवार, कहा


खास बातें

  1. टीएमसी का अमित शाह पर पलटवार
  2. कहा- शाह का भाषण उनकी बेचैनी को दर्शाता है
  3. टीएमसी ने कहा कि भगवा दल बेचैन हो गया है

कोलकाता:

तृणमूल कांग्रेस ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के मालदा में अमित शाह के भाषण को “तथ्यों के लिहाज से कमजोर और शब्दों के लिहाज से घटिया स्तर” का करार दिया. पार्टी ने कहा कि ऐसा लगता है कि भगवा दल बेचैन हो गया है और उसे यह अहसास हो गया है कि सत्ता में उसके गिनती के कुछ दिन बचे हैं. तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, “मालदा में भाजपा अध्यक्ष का भाषण सुनने के बाद यह स्वाभाविक है कि वे बेचैन हैं.  वे जानते हैं कि उनके दिन गिनती के हैं. वे राजनीतिक रूप से डरे हुए हैं. उनके भाषणों में तथ्यों की कमी है और स्तर घटिया है.” उन्होंने कहा, “उन्हें (भाजपा) भारत के लोकाचलन का अंदाज नहीं है. उन्हें बंगाल के लोकाचलन का अंदाजा नहीं है. वे बड़े शून्य की तरफ बढ़ रहे हैं.”  

बंगाल में अमित शाह बोले- ममता दीदी को डर था कि हमारी यात्रा निकली तो सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाएगी  

तृणमूल कांग्रेस ने कहा, “कुछ कह रहे हैं वे हताश हैं, कुछ कह रहे हैं वे पागल हो गए हैं…या फिर यह दोनों का सम्मिश्रण है?” इससे पहले शाह ने मालदा में एक रैली के साथ पश्चिम बंगाल में भाजपा के लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत की, जहां उन्होंने ममता बनर्जी सरकार को सत्ता से हटाने की बात कही. अमित शाह ने मंगलवार को विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका प्रस्तावित महागठबंधन ‘लोभ-लालच’ का गठबंधन है, जिसमें प्रधानमंत्री पद के नौ संभावित उम्मीदवार हैं. शाह ने दावा किया कि 20-25 नेताओं को एक मंच पर साथ ले आने से कोई फायदा नहीं होने वाला, क्योंकि नरेंद्र मोदी ही फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे. 

यूपी के लिए क्या है अमित शाह का प्लान, आंकड़ों में देखिए BJP मजबूत या SP-BSP गठबंधन?

टिप्पणियां

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ब्रिगेड परेड मैदान में हुई रैली में शामिल हुए 23 नेताओं में से नौ नेता प्रधानमंत्री पद के संभावित उम्मीदवार हैं. विपक्ष की विशाल रैली के तीन दिनों बाद शाह ने यहां भाजपा की रैली में कहा, ‘‘लेकिन हमारे पास प्रधानमंत्री पद का एक ही उम्मीदवार है और वह हैं नरेंद्र मोदी.” हालांकि, शाह ने विपक्षी के किसी नेता का नाम नहीं लिया. बंगाल में ‘गणतंत्र बचाओ यात्रा’ की शुरुआत करते हुए शाह ने राज्य में ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने का इरादा जाहिर किया. 

VIDEO: अमित शाह ने पश्चिम बंगाल से की बीजेपी के चुनाव अभियान की शुरुआत​
(इनपुट भाषा से)



Source link

All Charter Planes For Poll Campaign Booked By BJP, Says Congress


The Congress party said it is struggling to find charter planes for the poll campaign. (Representational)

New Delhi: 

As parties gear up for Lok Sabha poll campaign, senior Congress leader Anand Sharma Tuesday said the BJP has booked all charter planes, leaving his party struggling to get some.

The senior Congress leader alleged that there was an “unequal competition” between the BJP and other parties, as all the resources were with the ruling party.

“The BJP has booked all the chartered planes for their Lok Sabha poll campaign. We are not getting any and we are struggling to get some planes,” he told reporters.

Mr Sharma said the ruling party has spent over Rs 4,000 crore on publicity and advertisements, which he said was more than that spent by multinational companies like Netflix, Amazon and Unilever.

He said that such spending on government’s publicity was also being done through public sector undertakings.

“But still we would defeat them (BJP) with the love and support of people of the country,” he claimed.

Mr Sharma heads the party’s publicity committee for the Lok Sabha elections.

Sources said the grand old party would launch its poll campaign by the second half of February. It will reach out to voters through both the conventional and new media.





Source link

Congress reply to BJP: Due to Sibal, Syyed has not got asylum in America!


नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने लंदन में साइबर विशेषज्ञ सैयद शुजा द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस में किए गए EVM के हैक होने संबंधी कथित खुलासे और 11 लोगों की हत्या के आरोप पर कहा कि यह मामला बेहद गंभीर है. ये लोकतंत्र का सवाल है, सबकी जिम्मेदारी है कि सच्चाई का पता किया जाए. आरोप गलत है तो लगाने वाले के खिलाफ कार्रवाई हो. सच है तो मामला बेहद गंभीर है.

गौरतलब है कि लंदन में हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कपिल सिब्बल भी मौजूद थे. उन्होंने भारत लौटने के बाद पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि मैं यह प्रेस कॉन्फ्रेंस इसलिए कर रहा हूं क्योंकि केंद्रीय मंत्री ने मुझ पर आरोप लगाए हैं. यह मुद्दा एक राजनीतिक दल से जुड़ा हुआ नहीं है, यह मुद्दा लोकतंत्र के बारे में है, निष्पक्ष चुनाव के बारे में है. उन्होंने कहा कि  आशीष रे ने बताया कि उन्होंने सभी दलों और ECI को न्यौता भेजा है. मुझे व्यक्तिगत काम से लंदन जाना था, इसलिए मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी चला गया. उन्होंने कहा कि रे ने कुछ कागज मुझे मेल किए, जो सैयद ने उन्हें भेजे थे.

सिब्बल ने कहा कि जानकारी के मुताबिक ECIL के लिए विंड सॉल्यूशन कम्पनी के तहत EVM प्रोजेक्ट के लिए काम चल रहा था. प्रोजेक्ट MS7b में 14 लोग काम कर रहे थे. 13 मई को बीजेपी विधायक कृष्ण रेड्डी के हैदराबाद के एक गेस्ट हाउस में 14 में से 11 लोगों की हत्या कर दी गई. वहां कृष्ण रेड्डी भी थे. सैयद 15 मई को अमेरिका चला गया. वहां हिरासत में हॉस्पिटल में रहा. विंड सॉल्यूशन के मालिक और उसका पता भी सैयद ने बताया.

यह भी पढ़ें :EVM Hacking: ईवीएम को लेकर हैकर के दावे को चुनाव आयोग के टेक्निकल एक्सपर्ट ने किया खारिज

उन्होंने कहा कि सिब्बल के कारण तो सैयद को अमेरिका का असायलम नहीं मिला! कांग्रेस ने इसमें क्या किया? केंद्रीय मंत्री के आरोप हास्यास्पद हैं. ये लोकतंत्र का सवाल है, सबकी जिम्मेदारी है कि सच्चाई का पता किया जाए. आरोप गलत हैं तो लगाने वाले के खिलाफ कार्रवाई हो. सच हैं तो मामला बेहद गंभीर है.

VIDEO : बीजेपी ने लंदन की प्रेस कॉन्फ्रेंस को कांग्रेस प्रायोजित बताया

इससे पहले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) हैकिंग विवाद पर बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार किया. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस आयोजन (लंदन में प्रेस कॉन्फ्रेंस) को कांग्रेस द्वारा प्रायोजित बताया. प्रसाद ने कहा, ‘सैय्यद शुजा का नाम मैंने कभी नहीं सुना है. लंदन में कार्यक्रम को लेकर कहा गया था कि वह लंदन में ईवीएम को हैक करके दिखाएंगे. यह नाटक मुझे समझ नहीं आया है. वह विदेश की धरती से भारत के लोकतंत्र को बदनाम करने के लिए बकवास कर रहे हैं.’



Source link

Why Was Kapil Sibal There? BJP Targets Congress Over London Presser On EVMs


Kapil Sibal’s presence at the press conference has deeply embarrassed the Congress.

New Delhi: 

A “hackathon” in which a so-called cyber expert made a series of unsubstantiated claims, including that EVMs or Electronic Voting Machines were manipulated during the 2014 national election and senior BJP leader Gopinath Munde was “murdered” before he could expose it, was sponsored and scripted by the Congress, the ruling BJP alleged today.

Syed Shuja, a self-proclaimed cyber expert based in the US, had called the hackathon in London on Monday to demonstrate EVM hacking but, instead, he made sensational allegations without offering a shred of proof. Kapil Sibal’s presence at such an event riddled with wild claims has deeply embarrassed the Congress, which has disassociated itself from it. The Congress had nothing to do with the hackathon and it “does not know any of these principal actors and has no role to play,” Congress leader Abhishek Manu Singhvi said on Monday evening.

The disclaimer hasn’t impressed the ruling BJP.

“This was a Congress-sponsored London press conference. Is the Congress-sponsored event designed to defame the popular mandate of 2014? Is it meant to insult the nation’s voters,” Union Minister Ravi Shankar Prasad questioned.

Mr Prasad raised questions about the expert’s credentials, saying: “I have been IT minister for four-and-a-half years, I have never heard of him. This man comes from the US, face covered. Don’t understand this drama. Such colossal nonsense.”

On Mr Shuja’s claims on Gopinath Munde being killed because he knew of the 2014 “rigging”, the minister said: “He (Gopinath Munde) is not here to respond. He died in an accident in Delhi. Sudhir Gupta, an AIIMS doctor, has said he did the post-mortem and Mr Munde died of a neck injury. How can they call it murder?”

The second “bakwas (nonsense)”, Mr Prasad said, was that EVMs were hacked for all elections but those in Madhya Pradesh, Rajasthan and Chhattisgarh, the states that the BJP lost to the Congress in last month’s state polls. 

“He (Shuja) did not offer any proof, neither did he submit himself to questioning. No proof, no witness, no questions. What was Mr Kapil Sibal doing there? In what capacity was Kapil Sibal present there? The BJP would like to ask this question,” Mr Prasad said.

“My allegation is that Kapil Sibal had gone to London to monitor the event on behalf of the Congress,” he added.

The Congress yesterday largely distanced itself from the press conference but said the allegations should be looked into.

“We neither support nor reject the allegations. But such serious allegations should be investigated by an independent agency,” said Mr Singhvi. He also said Mr Sibal went to London in his personal capacity. “If there is a concern about EVMs, it is not a crime.”

While attempting damage control, the Congress continued to ask the Election Commission to restore confidence in the vote machines.

The Election Commission, however, is contemplating legal action against the “expert”, who had claimed to have worked with the poll body once.





Source link

Cyber expert Syed Shuja claimed that BJP leader and union minister Gopinath Munde was killed


लंदन : लोकसभा चुनावों से पहले एक बार फिर ईवीएम हैक करने का मामला गर्मा गया है. सोमवार को लंदन में अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने दावा किया कि 2014 के चुनावों में धांधली की गई थी. अमेरिका में राजनीतिक शरण चाहने वाले एक भारतीय साइबर विशेषज्ञ ने सैयद शुजा ने सोमवार को दावा किया कि भारत में 2014 के आम चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के जरिये ‘धांधली’ हुई थी.  उसका दावा है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है.

सैयद शुजा ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक और सनसनीखेज खुलासा किया. उसने कहा, 2014 में बीजेपी के वरिष्ठ नेता गोपीनाथ मुंडे की हत्या हुई थी, क्योंकि वह ईवीएम हैकिंग के बारे में जानते थे. हालांकि इस बारे में उसने कोई सबूत पेश नहीं किया.

लंदन में ईवीएम हैकिंग का दावा, कहा-2014 में हुई धांधली, EC ने कहा-पूरी तरह सुरक्षित

उसने दावा किया कि टेलीकॉम क्षेत्र की बड़ी कंपनी ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में भाजपा की मदद की थी, ताकि ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके. शुजा ने बताया कि भाजपा राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में चुनाव जीत जाती अगर उनकी टीम इन तीनों राज्यों में ट्रांसमिशन हैक करने की भाजपा की कोशिश में दखल नहीं दिया होता.

यह विस्फोटक और धमाकेदार खुलासा बड़े खुफिया अंदाज में किया गया, हालांकि इसकी तत्काल पुष्टि नहीं की जा सकी. उन्होंने दावा किया कि वह सार्वजनिक क्षेत्र की इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) की टीम का हिस्सा थे, जिसने ईवीएम मशीन का डिजाइन तैयार किया था. वह भारतीय पत्रकार संघ (यूरोप) की ओर से आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में शामिल हुए थे. हालांकि वह स्काईप के जरिये पर्दे पर ही नजर आये और उनके चेहरे पर नकाब था.

भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि ईवीएम से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती और इसके कार्यप्रणाली पर एक विशेषज्ञ समिति नजर रख रही है. अरोड़ा ने कहा कि सिस्टम को लेकर कोई संदेह नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि ईवीएम की पूरी कार्यप्रणाली पर उच्च प्रशिक्षित योग्य तकनीकी समिति नजर रखे हुए है.

इससे पहले कई दल ईवीएम में छेड़छाड़ के आरोप लगा चुके हैं और मतपत्र से चुनाव की मांग कर चुके हैं. लंदन में कार्यक्र में शुजा ने दावा किया कि उन्होंने 2009 से 2014 तक ईसीआईएल में काम किया था.  शुजा ने कहा कि वह उस टीम का हिस्सा थे जिसने 2014 चुनावों में इस्तेमाल ईवीएम मशीनों डिजाइन बनाया था. उन्होंने कहा कि उन्हें और उनकी टीम को ईसीआईएल से यह पता लगाने का निर्देश मिला था कि क्या ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सकता है और इसे कैसे हैक किया जा सकता है. उन्होंने दावा किया, ‘‘2014 के आम चुनाव में धांधली हुई.’ उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और दिल्ली चुनाव दौरान भी नतीजों में धांधली हुई.

अमेरिका में राजनीतिक शरण चाहने वाले एक भारतीय साइबर विशेषज्ञ सैयद शुजा ने सोमवार को दावा किया कि भारत में 2014 के आम चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के जरिये ‘धांधली’ हुई थी. उसका दावा है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है. स्काईप के जरिये लंदन में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शख्स ने दावा किया कि 2014 में वह भारत से पलायन कर गया था क्योंकि अपनी टीम के कुछ सदस्यों के मारे जाने की घटना के बाद वह डरा हुआ था. शख्स की पहचान सैयद शुजा के तौर पर हुई है.





Source link

Akhilesh Yadav Attacks BJP and says Nation Wants news PM


लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को सपा-बसपा गठबंधन से भाजपा निराश और कुंठाग्रस्त है. चुनाव करीब आते-आते भाजपा के लोगों की भाषा में अभी और गिरावट दिखेगी. अखिलेश ने बसपा मुखिया मायावती पर अभद्र टिप्पणी करने वाली भाजपा की महिला विधायक साधना सिंह की भाषा पर यह बयान दिया. उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि देश की जनता अगले चुनाव के बाद नया प्रधानमंत्री चाहती है. उन्होंने कहा कि देश नए प्रधानमंत्री का इंतजार कर रहा है. क्या भाजपा के पास प्रधानमंत्री पद के लिए कोई नया चेहरा है? अखिलेश ने सपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी की छात्र इकाई के पदाधिकारियों से भेंट करने के बाद पत्रकार वार्ता में भाजपा सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि सुनने में आया है कि भारत का डंका दुनिया में बज रहा है. चलो..कम से कम ठोको नीति से डंके पर तो आ गए.

यूपी के लिए क्या है अमित शाह का प्लान, आंकड़ों में देखिए BJP मजबूत या SP-BSP गठबंधन?

उन्होंने कहा कि इतना बड़ा झूठ बोलने में भी भाजपा को शर्म नहीं आ रही है. हकीकत यह भी है कि भुखमरी और बेरोजगारी सबसे ज्यादा भारत में है. यही नहीं हेल्थ इंडीकेटर्स पर जाएं और बीमारियों पर चर्चा करें तो कई स्टडी बताती हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा बीमारी भारत में फैल रही हैं. अखिलेश ने कहा कि दुनिया में कहीं भी भीड़ आदमी को मार रही हो. इसका भी तो डंका बज रहा होगा. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में ही नहीं दुनिया में सबसे ज्यादा झूठ भाजपा ने बोला है. उनकी राजनीतिक भाषा, व्यवहार जनता ने देख लिया है. अब तो चुनाव के दिन कम बचे हैं अब उन्हें जनता बताएगी.

समय-समय पर PM मोदी की तारीफ करने वाले अमर सिंह क्या ज्वाइन करेंगे BJP? जानिये क्या मिला जवाब

भाजपा विधायक द्वारा बसपा मुखिया मायावती पर की गई अभद्र टिप्पणी पर अखिलेश ने कहा कि कोई राजनीतिक दल यह ट्रेनिंग नहीं देता होगा कि क्या भाषा होगी. भाजपा के लोग जो भारतीय संस्कृति की दुहाई देते हैं, सोचिए उनकी भाषा क्या है. उनकी विधायक ने बसपा मुखिया मायावती के लिए जिस स्तर की घटिया भाषा का इस्तेमाल किया, वह गलत है. क्या राजनीति में ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए. अखिलेश ने कहा कि भाजपा विधायक की भाषा से तो लग रहा है कि यह लोग फ्रस्टेट (कुंठाग्रस्त) और हताश हैं. कहा कि भाजपा वाले अपने काम ना बताकर दूसरी तरफ चुनाव ले जाना चाहते हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर इशारा करते हुए कहा कि बड़ी कुर्सी वाले की भी भाषा बदल गई है. अभी तो चुनाव करीब आ रहा है. अभी इनकी भाषा का स्तर और गिरेगा.

अखिलेश यादव पर अमर सिंह का हमला, ‘थ्री-C’ की थ्योरी पर हुआ SP-BSP गठबंधन, जानें क्या हैं इसके मायने…

एक सवाल पर उन्होंने कहा, “भाजपा ने 40 से ज्यादा पार्टियों के साथ गठबंधन किया है. कोलकाता में तो अभी 20-22 दल के नेता ही साथ नजर आए हैं. हमारे पास तो प्रधानमंत्री के कई दावेदार हैं, लेकिन भाजपा के पास कोई नया नाम नहीं है. जीत का दावा कर रही भाजपा के पास अगर इस पद के लिए कोई दूसरा चेहरा हो तो बताए. गठबंधन तो अपना प्रधानमंत्री आसीन करने की तैयारी में लगा है.” उन्होंने कहा कि एक बात तो तय है कि देश नया प्रधानमंत्री का बेसब्री से इंतजार कर रहा है. नया प्रधानमंत्री ही सारी समस्याएं दूर कर देगा. 

ममता के मंच से गरजे अखिलेश यादव: चुनाव के समय मोदी सरकार CBI और ED से गठबंधन कर रही है

उन्होंने कहा कि सपा-बसपा नेतृत्व ने गठबंधन के बाद सीट बंटवारे के मामले में उत्तर प्रदेश की कई सीटों पर निर्णय ले लिया है. इसका एलान भी जल्द होगा. सपा सरंक्षक मुलायम सिंह के चुनाव लड़ने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह) जहां से चाहें वहां से चुनाव लड़ेंगे. 

VIDEO: कोलकाता में विपक्ष की संयुक्त रैली में बोले अखिलेश यादव- नए साल में नया प्रधानमंत्री हो



Source link

Shatrughan Sinha hits Back on rajiv pratap rudy BJP


खास बातें

  1. शत्रुघ्न सिन्हा ने किया रूडी पर पलटवार
  2. कहा-दबाव में न झुकें, रीढ़ को सीधा रखें
  3. रूडी ने शत्रुघ्न सिन्हा पर किया था हमला

पटना:

पटना साहिब से भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने सोमवार को अपनी पार्टी के प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी  (rajiv pratap rudy) पर कटाक्ष किया कि दरकिनार होने के कारण बहुत दबाव में चल रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री के लिए वह सहानुभूति रखते हैं. भाजपा सांसद रूडी ने कोलकाता में हाल में आयोजित ममता बनर्जी की रैली में भाजपा नेतृत्व पर प्रहार करने पर शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) पर हमला किया था. अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने राजीव प्रताप रूडी  (rajiv pratap rudy) का नाम लिए बिना कहा, ‘‘मुझे पार्टी के युवा प्रवक्ता और पुराने मित्र के बयान पर आश्चर्य नहीं हुआ. कुछ लोग कह रहे हैं कि मेरे युवा मित्र पार्टी में दरकिनार किए जाने के कारण बहुत दबाव में हैं. हमें उनके प्रति सहानुभूति रखनी चाहिए क्योंकि ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने दबाव में मेरे खिलाफ बयान दिए होंगे या शायद खुद को प्रासंगिक बनाए रखने का उनका यह प्रयास होगाा .” 

रियल एक्शन हीरो हैं PM नरेंद्र मोदी, लेकिन काम नहीं करने की वजह से जनता से दूर हुए : शत्रुघ्न सिन्हा

राजीव प्रताप रूडी  (rajiv pratap rudy) ने शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) को बहुत ही चतुर और अवसरवादी बताते हुए कहा था कि अयोग्य ठहराए जाने से बचने के लिए संसद में जब भी कोई व्हिप पार्टी द्वारा जारी किया जाता था वह संसद में उपस्थित रहते थे. उन्होंने यह भी कहा था कि कोलकाता रैली में सिन्हा की मौजूदगी का उनकी पार्टी निश्चित तौर पर संज्ञान लेगी. सिन्हा ने एक अन्य ट्वीट में रूडी को सलाह दी कि वह दबाव में न झुकें और अपनी रीढ़ सीधी रखें और विरोध के बावजूद व्यक्तिगत होने की ज़रूरत नहीं है.

शत्रुघ्न सिन्हा पर BJP ले सकती है बड़ा फैसला, इस दिग्गज नेता ने दिया संकेत

राजीव प्रताप रूडी  (rajiv pratap rudy) ने कहा था, “मैंने पिछले पांच सालों में कभी उनको पार्टी के किसी भी कार्यकलाप में नहीं देखा. वह बहुत चतुर हैं और अपनी राजनीतिक समझ के अनुसार फैसले लेते हैं. वह खुद को भाजपा के बताते हैं और विपक्ष की रैली में शामिल होते हैं. इसलिए, मुझे पक्का विश्वास है कि पार्टी इस पर कार्रवाई करेगी.”

टिप्पणियां

VIDEO: सवालों के जवाब नहीं देंगे तो सुनना पड़ेगा कि चौकीदार चोर है : शत्रुघ्‍न सिन्‍हा



Source link

BJP Ally Janata Dal-United To Visit Northeast Over Citizenship Bill


Janata Dal-United vice-president Prashant Kishor will lead the delegation.

Guwahati: 

The fight against the Citizenship (Amendment) Bill may soon receive support from unusual quarters, with the Janata Dal-United – a key constituent of the ruling National Democratic Alliance (NDA) – planning to send a delegation to meet civil society bodies in the Northeast later this month.

They are expected to cover several parts of the region through January 28 and 29, speaking to the public as well as different stakeholders at a time when many political allies of the BJP have already conveyed their displeasure over the bill. The Asom Gana Parishad went as far as to quit the NDA in protest against the controversial legislation.

The Citizenship (Amendment) Bill, passed in the Lok Sabha on January 8, seeks to amend the Citizenship Act-1955 for granting expedited Indian citizenship to non-Muslim immigrants from three neighbouring countries. While people hit the streets to protest against facilitating the entry of outsiders, social groups alleged discrimination against immigrants on religious grounds.

The Janata Dal-United delegation will comprise party vice-president Prashant Kishor, secretary general KC Tyagi, general secretary (northeast in-charge) Afaque Ahmad Khan and Nagaland unit president NSN Lotha. A senior leader said on the condition of anonymity that the party has already decided to vote against the bill in the Rajya Sabha, and it will try and convince other NDA partners to do so too.

At least four chief ministers from the Northeast have raised their concerns on the bill until now. Recently, Meghalaya Chief Minister Conrad Sangma and Mizoram Chief Minister Zoramthanga visited the national capital in a combined effort to make the centre scrap the controversial legislation in the face of raging protests across the region. Mr Sangma’s National People’s Party and Mr Zoramthanga’s Mizo People’s Front are both part of the NDA.





Source link

Denied Landing At Malda Airport, BJP Chief Amit Shah Opts For Private Helipad


Amit Shah was discharged from Delhi’s AIIMS, where he was admitted with swine flu, on Sunday.

Kolkata: 

Denied permission by the West Bengal government to land his chopper at the Malda airstrip for a rally tomorrow, BJP chief Amit Shah has decided to circumvent the issue by touching down at a private helipad in the region instead. According to a press note from the state BJP, the helicopter will now land at the Golden Park Hotels and Resorts — a property with adequate infrastructure for the purpose.

The administration’s refusal to allow Mr Shah’s helicopter to land at the Malda airstrip had snowballed into a major controversy, with the BJP citing it as an instance of Bengal Chief Minister Mamata Banerjee “misusing state machinery for political ends”. The government, however, maintained that the BJP president could not be allowed to land there due to ongoing renovation work.     

“As there were security issues, the police said that the chopper carrying Amit Shah should land at some other site. I also change my chopper’s landing spot on the police’s request. We granted permission for the rally because we believe in democracy. They (BJP leaders) are distorting information and misleading people,” Ms Banerjee said.

The state authorities had cited ongoing construction work to direct Mr Shah’s helicopter to another landing strip. “Upgradation work is going on, and there is sand as well as construction material lying around. Permission cannot be given because the airport is not suitable for the safe landing of helicopters. Moreover, the temporary helipad in Malda is not being maintained properly due to the ongoing construction work,” a letter from the Additional District Magistrate of Malda, dated January 20, stated.

BJP Malda district secretary Gopal Saha, in his response, wondered how the state government manages to use the Malda helipad for landing its choppers if it is in such a bad state. Union Law Minister Ravi Shankar Prasad alleged that the rejection of permission amounted to “abuse of power” on the state government’s part. “Permission was denied on the grounds that renovation work is being taken up, and there is construction material littered on the runway. But Mamataji’s helicopter had landed on the same airstrip a few days ago. Some journalists went there too, and I have pictures to prove it,” he said.

Mr Shah was discharged from Delhi’s All India Institute of Medical Sciences, where he was being treated for swine flu, on Sunday.

(With inputs from Agencies)





Source link

Women’s Panel Asks BJP Leader To Explain Insulting Remarks On Mayawati


Sadhana Singh on Saturday alleged that Ms Mayawati has traded her dignity for power.

New Delhi: 

The BJP lawmaker from Uttar Pradesh, who called Bahujan Samaj Party chief Mayawati “a blot on womankind” among other things, has been asked to explain her insulting remarks by the National Commission for Women (NCW).

Sadhana Singh alleged that Ms Mayawati has traded her dignity for power. “She (Mayawati) has no self-respect… she was almost molested earlier and yet… in history, when Draupadi was molested, she took a vow to seek revenge… but this woman, she lost everything, but still sold her dignity for the sake of power. We strongly condemn Mayawati ji. She is a blot on womankind. A woman who gulped insults for comfort and power… is a blot on womankind,” the legislator from Mughalsarai, said at a rally on Saturday.

“Such derogatory statements are unbecoming of a leader and highly condemnable,” NCW chairperson Rekha Sharma said.

We condemn the “extremely offensive, irresponsible and unethical” remarks, the women’s commission said. Ms Singh has to provide a “satisfactory explanation”, the note added.

The UP lawmaker’s insensitive comments were an apparent reference to the infamous episode when Ms Mayawati was assaulted by Samajwadi Party workers at a guest house in Lucknow in 1995 that triggered decades of animosity between the two parties. The leaders buried the hatchet last year and formed an alliance earlier this month to beat the BJP in the national elections.

Amid widespread criticism, Ms Singh apologized saying “she had no such intention to hurt anyone….”. “I regret what I said. I just shared a woman’s pain, and didn’t want to insult anyone,” Ms Singh said in a statement.

However, the BSP has already filed a complaint against her. “They have lost their mental balance in fear of losing the election in Uttar Pradesh,” said the BSP’s Satish Chandra Mishra.

Samajwadi Party chief Akhilesh Yadav, who had declared that “insulting Mayawati ji is like insulting me” shortly after formalising their alliance, added that the “objectionable and filthy terms” used against Mayawati ji are deplorable. “They are a sign of BJP’s moral bankruptcy and frustration. It is also insulting for the women of this country,” he said.





Source link