Kailash Vijayvargiya Trolled on Social Media After This Tweet – BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय ने किया यह ट्वीट, तो अंधा कानून ने कहा


नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय एक बार फिर से सोशल मीडिया पर चर्चा में है. अक्सर अपने बयानों को लेकर मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इस बार एक ऐसा ट्वीट किया है, जिसे लेकर वह सोशल मीडिया पर न सिर्फ चर्चा में हैं, बल्कि निशाने पर भी आ गए हैं. उनके ट्वीट की वजह से सोशल मीडिया पर उन्हें कई तरह के सलाह मिलने लगे हैं. 

विपक्षी दलों की बैठक पर बीजेपी की चुटकी, विजयवर्गीय बोले, हमारे पास मोदी, उनके पास कौन?

दरअसल, कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार की सुबह ‘सैटर्डे मोटिवेशन’ हैशटैग के साथ अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर उनकी काफी आलोचना हो रही है. उन्होंने ट्वीट किया- ”विदेशी स्त्री से उत्पन्न संतान कभी देश हित और राष्ट्र प्रेम का अनुगामी नहीं हो सकता.” इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स उन्हें निशाने पर ले लिया. 

एक यूजर ने इस ट्वीट के जवाब में लिखा कि यह ओछ मानसिकता है आपकी. वहीं एक और यूजर ने सलाह दी कि ‘ये बात उचित नही है. महिला, महिला ही होती है. चाहे वो देश की हो या फिर विदेश की. थोड़ा तो विचारकर लिखें. 

अयोध्या में राम मंदिर: कैलाश विजयवर्गीय बोले- BJP अध्यादेश के बारे में नहीं सोच रही, कोर्ट के फैसले का है इंतजार

वहीं, अंधा कानून नामक एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि ‘ ट्वीट डिलीट कीजिए कीजिए कैलाश जी, ये आपको शोभा नहीं देता’. वहीं, एक अन्य यूजर ने कैलाश विजयवर्गीय को सलाह दी कि ‘ कैलाश भाई आपसे ऐसी उम्मीद नहीं थी इतना नीचे गिर के बोलेंगे’.

टिप्पणियां

मध्य प्रदेश: नतीजे आने से पहले BJP में मचा बवाल, शिवराज सरकार की मंत्री और विधायक ने उठाए पार्टी पर सवाल

बता दें कि हाल में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए हैं और तीन हिंदी भाषी राज्यों में बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा है. इनमें से एक मध्य प्रदेश भी है. कैलाश विजयवर्गीय मध्य प्रदेश से आते हैं और वोटों की गिनती के दिन भी उन्होंने कहा था कि बीजेपी बहुमत से जीतेगी  और सरकार बनाएगी. दरअसल, मध्य प्रदेश में कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं, वहीं बीजेपी 109 पर सिमट गई है. 

VIDEO: कैलाश विजयवर्गीय का दावा, मध्य प्रदेश में फिर से बनेगी बीजेपी की सरकार





Source link

Saina Nehwal Parupalli Kashyap Wedding Photos Love Story


नई दिल्ली: Saina Nehwal Wedding: बैटमिंटन स्टार सायना नेहवाल (28) (Saina Nehwal) ने अपने दोस्त पारुपल्ली कश्यप (32) (Parupalli Kashyap) से एक प्राइवेट सेरेमनी में शादी की. ये शादी 14 दिसंबर को सायना के साइबराबाद के रायदुर्गम स्थित घर ओरियन विला में हुई. सायना नेहवाल और उनके पति परुपल्ली कश्यप (Saina Nehwal-Parupalli Kashyap) दोनों में इस शादी की जानकारी अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स से फैन्स को दी. अब 16 दिसबंर को दोनों रिसेप्शन देंगे. 

इस शादी में सायना और पारुपल्ली (Saina-Parupalli) के लगभग 40 मेहमान शामिल हुए. मेहमानों में आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हा (E. S. L. Narasimhan) भी मौजूद थे. साइना ने शादी की घोषणा करते हुऐ कश्यप के साथ ट्विटर पर फोटो साझा करते हुए लिखा, ‘‘मेरी जिंदगी की सबसे अच्छी जोड़ी (बेस्ट मैच ऑफ माई लाइफ). अभी शादी हुई. 

VIDEO: अमिताभ बच्चन ने परोसे ढोकले, तो आमिर खान ने मेहमानों को खिलाई चटनी, ईशा अंबानी की शादी में यूं की खातिरदारी


सायना ने अपनी शादी के लुक का काफी मिनिमल रखा और पारुपल्ली भी पिंक कुर्ते और जैकेट में नज़र आए. बता दें, साइना और कश्यप की मुलाकात पुलेला गोपीचंद अकादमी (Pullela Gopichand Academy) में हुई थी. दोनों 10 सालों (2007) से एक-दूसरे के साथ हैं. इस बात का सबूत सायना नेहवाल (Saina Nehwal) के इंस्टाग्राम पर देखा जा सकता है. सायना और पारुपल्ली दोनों ही बैडमेंटन खिलाड़ी हैं. दोनों की दोस्ती बैंडमिंटन टूर्स के जरिए ही आगे बढ़ी. यहां जानिए कौन हैं भारत की बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल के पति (Saina Nehwal Husband). 

Kapil Sharma Wedding: शादी की रस्मों के दौरान उठने लगे कपिल शर्मा, गिन्नी ने ऐसे किया इशारा, देखें VIDEO​

 

1. 32 साल के पारुपल्ली कश्यप को भारत सरकार से साल 2012 में अर्जुन अवॉर्ड मिला.   
2. पारुपल्ली अभी तक एकलौते भारतीय बैंडमिंटन खिलाड़ी जो 2012 में हुए लंदन ओलम्पिक्स में मेन्स सिंगल्स के क्वाटर फाइनल तक पहुंचे. 
3. पारुपल्ली कश्यप 2014 में हुए कॉमन वेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता. बता दें, भारत को मेन्स सिंगल में गोल्ड मेडल 32 साल बाद मिला. इससे पहले 1982 में सैयद मोदी भारत के लिए गोल्ड मेडल लेकर आए थे. वहीं, साल 2010 भारत में हुए कॉमन वेल्थ गेम्स में भी पारुपल्ली ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता.
4. पारुपल्ली कश्यप 11 साल की उम्र से बैडमिंटन खेल रहे हैं. उन्होंने साल 2005 में नेशनल और 2006 में इंटरनेशनल खेला. 
5. पारुपल्ली कश्यप अस्थमा के मरीज़ हैं. 
6. सायना और पारुपल्ली एक-दूसरे को डेट करने से पहले ही साल 2005 से पुलेला गोपीचंद अकादमी में साथ-साथ ट्रेनिंग करते आ रहे हैं.
7. पारुपल्ली कश्यप साल 2012 में हुए ओलंपिक्स गेम्स के क्वाटर फाइनल तक पहुंचने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन पुरुष खिलाड़ी बने.
8. सायना नेहवाल और पारुपल्ली कश्यप दोनों ही 16 दिसंबर 2018 को शादी का रिसेप्शन देंगे.  

देखें सायना नेहवाल और पारुपल्ली कश्यप की शादी की तस्वीरें… 

 

टिप्पणियां

 





Source link

Chhattisgarh: Raman Singh says I am not interested in Centre Politics


रायपुर: छत्तीसगढ़ के निवर्तमान मुख्यमंत्री रमन सिंह ने केंद्र की राजनीति में जाने के सवाल पर कहा है कि वह राज्य में ही हैं तथा यहीं रहेंगे. रमण सिंह से शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में जब पूछा गया कि क्या चुनाव मेंहार के बाद वह केंद्र की राजनीति में जाएंगे तब उन्होंने कहा,‘मै यहीं हूं और यहीं रहूंगा.’ उन्होंने कहा, ‘अब मै यहां लगातार आता रहूंगा अपनी नई भूमिका में. मैं प्रेस के साथ नई भूमिका में ज्यादा मिलूंगा क्योंकि पहले मुख्यमंत्री के पद में सीमाओं से बंधा था पर अब मैं भाजपा कार्यालय में आउंगा, बैठूंगा और कार्यकर्ताओं से मिलूंगा. मीडिया के साथियों के लिए भी मैं भाजपा कार्यालय में उपलब्ध रहूंगा.’ 

विधानसभा चुनावों में हार के बाद राज्यों में साइडलाइन हो सकते हैं शिवराज, वसुंधरा राजे और रमन सिंह, दिख सकते हैं नई भूमिका में !


चुनावी घोषणा पत्र में कांग्रेस द्वारा किए गए वादों के सवाल पर उन्होंने कहा,‘इसके लिए मैं 10 दिनों तक इंतजार करूंगा, फिर मैं आपके पास आउंगा.’ राज्य में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने धान के लिए 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य और सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्जमाफ करने की घोषणा की है. राज्य में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीट में जीत हासिल की है. रमण सिंह ने भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में राफेल मामले में संवाददाता सम्मेलन मे कहा कि एक झूठ के आधार पर प्रधानमंत्री की छवि की धूमिल करने का प्रयास किया गया है. इसलिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए. इसका चुनाव पर असर हुआ है या नहीं हुआ है इस प्रकार का आकलन तो नहीं किया गया है. लेकिन इस तरह की राजनीतिक भाषा यदि हिंदुस्तान में बड़े पद में बैठे हुए व्यक्ति करेंगे तब लोगों का विश्वास पूरी तरह से ऐसे दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष से उठ जाएगा. 

Chhattisgarh Chunav Result 2018 : कांग्रेस की आंधी में उड़ी ‘चावल वाले बाबा’ की सरकार, कांग्रेस इस ‘बाबा’ को बना सकती है सीएम

उन्होंने कहा कि सर्वोच्च अदालत द्वारा राफेल सौदा मामले पर दिए गए फैसले का भारतीय जनता पार्टी स्वागत करती है. न्यायालय के इस निर्णय से फिर सत्य की जीत हुई है. मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने राफेल सौदे पर सवाल उठाने वाली तमाम याचिकाओं को खारिज कर दिया है. न्यायालय ने रिकॉर्ड की विस्तार से जांच कर इस मामले में खरीद प्रक्रिया को चुनौती देने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है. रमण सिंह ने कहा कि न्यायालय ने इस विमान की ज़रूरत और गुणवत्ता को भी मान्यता देते हुए इस सौदे को सभी संदेहों से बाहर माना है. जहाज़ की कीमत संबंधित आशंकाओं को भी न्यायालय ने निराधार पाया है और कहा है कि इस मुद्दे पर जांच की कोई जरूरत नहीं है.

टिप्पणियां


उन्होंने कहा कि हाल में संपन्न हुए चुनाव में सभी राज्यों में कांग्रेस अध्यक्ष समेत सभी नेतागण लगातार राफेल पर दुष्प्रचार कर रहे थे. देखा गया है किस तरह कांग्रेस झूठ बोल कर जनता को गुमराह कर रही थी. 

VIDEO: छत्तीसगढ़ में रमन सिंह ने ली हार की जिम्मेदारी



Source link

Arun Jaitley slams Opposition on Rafale deal case


नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने शुक्रवार को राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Deal) सौदे पर लगाए गए आरोपों को ऐसी ‘कहानी गढ़ने’ के समान बताया जिसने राष्ट्र की सुरक्षा को जोखिम में डाला. अरुण जेटली (Arun Jaitley) का यह बयान उच्चतम न्यायालय के फैसले के आलोक में आया है जिसमें 36 राफेल विमानों (Rafale Deal) की खरीद के लिए भारत एवं फ्रांस के बीच हुए समझौते को चुनौती देने वाली याचिकाओं को खारिज कर दिया गया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी  (Rahul Gandhi) पर हमला बोलते हुए जेटली ने कहा, “हंगामा करने वाले” सभी मोर्चों पर नाकाम हो गए हैं और यह झूठ गढ़ने वालों ने देश की सुरक्षा को जोखिम में डाला.

यह भी पढ़ें: रफाल मामले में क्या सरकार को वाकई क्लीनचिट मिल गई?


अरुण जेटली ने कहा कि झूठ तो सामने आना ही था और आया भी. साथ ही कहा कि अगर ईमानदार सौदों पर सवाल उठाए जाएंगे तो अधिकारियों एवं सशस्त्र बलों को भविष्य में ऐसी कोई भी प्रक्रिया शुरू करने से पहले दो बार सोचना पड़ेगा. फैसले से खुश, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि शीर्ष अदालत के आदेश के माध्यम से राफेल सौदे के मुद्दे पर विराम लग गया. सीतारमण ने जेटली के साथ संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. जेटली ने कहा कि गांधी के आरोपों में बताया गया हर आंकड़ा गलत था. उन्होंने कहा कि सरकार संसद में इस मुद्दे पर चर्चा के लिए फिर से जोर देगी.

यह भी पढ़ें: राफेल सौदे की जांच पर कोर्ट का फैसला आते ही यह बोले बीजेपी के नेता..

उन्होंने दावा किया कि दुनिया भर के लोकतंत्रों में ऐसी परंपरा रही है कि नेता अपने झूठ पकड़े जाने पर अपना पद छोड़ देते हैं. सौदे की संयुक्त संसदीय जांच (जेपीसी) की कांग्रेस की मांग पर पूछे गए सवाल पर जेटली ने कहा कि केवल न्यायिक निकाय ही इस तरह की जांच कर सकती है क्योंकि पहले ऐसा देखा गया है कि जेपीसी पक्षपाती रही है. उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय का फैसला निर्णायक है और सौदे के बारे में किसी संदेह की गुंजाइश नहीं छोड़ता. बता दें कि इस मामले में राहुल गांधी ने शुक्रवार को सरकार की आलोचना की. उन्होंने, सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि आखिर पांच सौ करोड़ के जहाज 1600 करोड़ में क्यों खरीदे गए. जिस दिन जेपीसी की जांच हो गई दो नाम सामने आएंगे मोदी और अनिल अंबानी. राहुल गांधी ने कहा कि सब जानते हैं कि चौकीदार चोर हैं और चौकीदार ने अनिल अंबानी को चोरी कराई.राहुल गांधी ने कहा कि  हम तीन चार दिन में प्रेस कांफ्रेंस करते हैं. पर प्रधानमंत्री कोई प्रेस नहीं करते .

टिप्पणियां

VIDEO: क्या कोर्ट में तथ्य गलत रखे गए?

हम काफ़ी समय से राफ़ेल पर भ्रष्टाचार की बात करते हैं.  526 करोड़ का विमान 1600 करोड़ का क्यों खरीदा गया? ऑफ़सेट पार्टनर का जिम्मा अनिल अंबानी की कंपनी को ही क्यों दिया ?  HAL को क्यों नहीं दिया? जबकि हिंदुस्तान में रोजगार की भारी कमी है. फ्रांस के राष्ट्रपति कहते हैं कि सीधे प्रधानमंत्री ने हमें आर्डर दिया, मगर  सरकार हमारे सवालों का एक भी जवाब नहीं देती.



Source link

Author Amitav Ghosh honoured with 54th Jnanpith award


नई दिल्ली: पहली बार ज्ञानपीठ का पुरस्कार (Jnanpith award 2018) किसी अंग्रेज़ी के लेखक को दिया गया है. ज्ञानपीठ पुरस्कार  (Jnanpith award 2018) दूसरी भारतीय भाषाओं के लेखकों को मिलता रहा है मगर अंग्रेज़ी के लेखकों को कभी नहीं मिला. ऐसा नहीं था कि अंग्रेज़ी के लेखकों की दुनिया में धूम नहीं थी या उनकी रचनाएं श्रेष्ठ नहीं थीं. इस बार का ज्ञानपीठ पुरस्कार (Gyanpeeth Award 2018) अमिताव घोष (Amitav Ghosh) को दिया जा रहा है जो निस्संदेह ऐसे लेखक हैं जो किसी भी बड़े सम्मान के हक़दार हैं. उनके उपन्यास बेमिसाल हैं. इतिहास और कल्पना के घोल से जो रसायन वह तैयार करते हैं, जितनी गहराई से अपने विषय पर शोध करते हैं और उसे जिस बारीक़ी से रचना में बदलते हैं, वह आपको बिल्कुल हैरान छोड़ जाता है. भाषा, पर्यावरण, राजनीति- जैसे जीवन का कोई पहलू उनसे छूटता नहीं. ‘सी ऑफ़ पॉपीज़़’ में वे इस बात की ओर ध्यान खींचते हैं कि कैसे भारत में अंग्रेजी साम्राज्यवाद ने यहां की खेती बरबाद की, आम फ़सलों की जगह अफीम उगाने को मजबूर किया और पूरे उत्तर भारत के सामाजिक-आर्थिक तंत्र को झकझोर दिया.

यह भी पढ़ें: लेखक गिरीश कर्नाड ने गले में ‘मी टू अर्बन नक्सल’ लिखी तख़्ती टांगी तो शिकायत हुई दर्ज  


वैसे आप चाहें तो अमिताव घोष को अंग्रेज़ी में भोजपुरी के उपन्यासकार भी कह सकते हैं. उनकी एक पृष्ठभूमि यह भी है. ‘सी ऑफ पॉपीज़’ की नायिका दिती भोजपुरी बोलती है, वह एक जहाज़ आता देख कुछ हैरान होती है और अपने पूजाघर में सिंदूर से उसकी भी तस्वीर बना लेती है. उसके पति की अफीम के कारख़ाने में मौत हो जाती है. फिर यह कहानी कलकत्ता पहुंचती है- और वहां से गिरमिटिया मजदूरों के साथ मॉरीशस तक. आप देखिए, एक ही साथ अमिताव कितने सारे मुद्दे उठा लेते हैं. सती प्रथा, अछूत प्रथा, गिरमिटिया मजदूरी, ढहती राजशाहियां. नीलरतन हालदार नाम के राजा का जो हाल होता है, वह डरावना है. एक बात और बता दूं. इस उपन्यास में हिंदी शब्दों का भरपूर इस्तेमाल है. आप अंग्रेजी में पगली लिखा देखेंगे, खजाना की स्पेलिंग देखकर हैरान रह जाएंगे.

देशकाल, इतिहास-भूगोल सब जैसे उनके दायरे में हैं. सर्किल ऑफ़ रीज़न में वे सलाह देते हैं कि कलकत्ता से कंपास रखकर घुमाइए और देखिए कि इसका गोल घेरा किस सांस्कृतिक परिधि को घेरता है. उपन्यास की शुरुआत दिलचस्प है जब एक महान वैज्ञानिक कोलकाता एयरपोर्ट पर आ रहा होता है और सब उसकी राह देख रहे होते हैं. ‘शैडो लाइन्स’ कोलकाता से लंदन तक आती-जाती एक मीठी सी कहानी है जिस पर अमिताव घोष को साहित्य अकादेमी सम्मान मिल चुका है.

यह भी पढ़ें: मानवीय उच्चादर्शों के बड़े कवि कुंवर नारायण का अवसान

लेकिन अमिताव घोष की सबसे ख़ास बात- या सबसे ख़ास बातों में एक- पर्यावरण पर उनकी गहरी नज़र है. प्रियदर्शन ने आपके लिए लिखा है कि द हंगरी टाइड में वे गुम होती डॉल्फिन्स की ख़बर लेते हैं- बताते हैं कि कभी वे कलकत्ता तक पहुंच जाती थीं. उपन्यास की एक नायिका डॉल्फ़िन पर रिसर्च करने के लिए सुंदरवन जाना चाहती है. सरकारी अमला उसे लूटने पर लगा है. एक हादसा होता है, वह समंदर में गिर जाती है, उसे एक मछुआरा बचाता है. इसके बाद यह कमाल की कहानी है- सुंदरवन के अलग-अलग द्वीपों की कथा कहती हुई- समंदर पर बहती हुई, आने वाले विराट तूफ़ान से बेख़बर प्रेम में डूबी हुई. बेशक, अपने उपन्यासों के देशकाल को अमिताव कभी नहीं भूलते. इस उपन्यास में भी वे जन प्रतिरोध की कथा पिरो लेते हैं. अमिताव लोगों और सभ्यताओं के ही नहीं, शब्दों के इतिहास में भी जाते हैं.

टिप्पणियां

VIDEO: अमिताव घोष को मिला ज्ञानपीठ पुरस्कार.

इस उपन्यास में वे बताते हैं कि कैसे कोलकाता की मशहूर मिठाई लेडीगेनी दरअसल लेडी कैनिंग के नाम पर रखी गई है. ऐसे उदाहरण और भी हैं.कुछ बरस पहले पर्यावरण पर केंद्रित उनकी किताब ‘द ग्रेड डिरेंजमेंट’ ख़ूब चर्चा में रही है. पर्यावरण के सवाल को उन्होंने जितने बड़े आयामों के साथ उठाया है, अमूमन उन पर हमारी नज़र नहीं जाती. हम भारत के एक शानदार रचनाकार अमिताव घोष को बधाई देते हैं.

 



Source link

Politics on Rafale Deal and Supreme Court Judgement


नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज राफ़ेल सौदे की जांच की मांग ख़ारिज कर दी. इस सिलसिले में आई सभी अर्ज़ियां रद्द करते हुए कोर्ट ने कहा, राष्ट्रीय रक्षा के मामलों में टीवी इंटरव्यू के आधार पर फैसले नहीं हो सकते. इसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस को घेरने में देर नहीं की.

अमित शाह ने कहा, “किसकी सूचना के आधार पर राहुल गांधी इतने बड़े आरोप लगाते थे? आपका सोर्स आफ इन्फॉरमेशन कौन है? देश की जनता ये जानना चाहती है, राहुल गांधी को ये देश को बताना चाहिए.”

राहुल गांधी ने जवाब देने में देरी नहीं की. राहुल ने कहा, “ये कैसे हो सकता है? सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट का फाउंडेशन है कि (राफेल डील की) प्राइसिंग सीएजी की रिपोर्ट में डिस्कस हुई है. लेकिन पीएसी के चेयरमैन को आज तक सीएजी की रिपोर्ट नहीं दिखी. कमेटी में किसी को नहीं दिखी.”

राफेल सौदे की जांच पर कोर्ट का फैसला आते ही यह बोले बीजेपी के नेता..


राहुल गांधी ने साफ़ कर दिया कि सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद भी उनके लिए ये मुद्दा बना हुआ है. हालांकि शुक्रवार की सुबह सुप्रीम कोर्ट ने रफाल से जुड़ी सभी अर्ज़ियां ख़ारिज करते हुए कहा कि उसे तीन मुद्दों- प्रक्रिया, कीमत और ऑफसेट पार्टनर पर विचार करना था.

राफेल पर राहुल गांधी बोले- चौकीदार चोर है और उसने अंबानी को चोरी कराई

कोर्ट ने कहा राफ़ेल सौदे की निर्णय प्रक्रिया सही है. राफ़ेल की क़ीमत में भी कोई गड़बड़ी नहीं लगती. ऑफ़सेट पार्टनर सरकार ने नहीं, दसॉल्ट ने चुना है. राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में इंटरव्यू के आधार पर फैसला नहीं हो सकता.

कोर्ट के फ़ैसले की छाया संसद के सत्र पर भी दिखी. शोर-शराबे के बीच गृह मंत्री ने भी दुहराया कि इस पर राहुल को माफ़ी मांगनी चाहिए.रिलायंस ग्रुप ने एक बयान जारी कर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले का स्वागत किया. फैसले से मायूस कांग्रेस ने लेकिन यह साफ किया कि सौदे की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति की उसकी मांग बनी रहेगी. लेकिन वित्त मंत्री अरूण जेटली ने इस मांग का खारिज कर दिया.

टिप्पणियां

VIDEO : राहुल गांधी बोले चौकीदार ही चोर

कांग्रेस के रूख से साफ है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी राफेल डील को वह राजनीतिक मुद्दा बनाए रखना चाहती है जबकि सरकार और बीजेपी को राहुल गांधी पर पलटवार करने का एक बड़ा मौका मिल गया है.



Source link

Rs. 200, 500 and 2000 notes will not be valid in this neighboring country of India


खास बातें

  1. नेपाल ने 100 रुपये से अधिक का भारतीय नोट रखने से इनकार
  2. नेपाल सरकार ने बड़े नोटों को कानूनी मान्यता नहीं दी
  3. भारत में काम करने वाले नेपाली श्रमिकों को भी होगी परेशानी

काठमांडू: भारत के पड़ोसी देश नेपाल की सरकार ने देश में 100 रुपये से अधिक मूल्य वाले भारतीय नोटों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. अब वहां 200, 500 और 2,000 रुपये के भारतीय नोटों का लेनदेन में इस्तेमाल नहीं हो सकेगा. इससे वहां जाने वाले भारतीय पर्यटकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.

नेपाल में भारतीय नोटों को आसानी से स्वीकार किया जाता है. नेपाली नागरिक भी अपनी बचत, लेनदेन और कारोबार के लिए भारतीय मुद्रा का बड़े पैमाने पर उपयोग करते हैं.

नेपाल के सूचना एवं संचार मंत्री गोकुल प्रसाद बासकोटा ने कहा कि सरकार ने लोगों से 100 रुपये से अधिक मूल्य का भारतीय नोट रखने से मना किया है, क्योंकि सरकार ने उन्हें यहां कानूनी मान्यता नहीं दी है. उन्होंने कहा, ‘‘सरकार ने 200, 500 और 2,000 रुपये के भारतीय नोटों को रखने और उसका इस्तेमाल नहीं करने का निर्णय किया है. सरकार जल्द इस मामले में एक आधिकारिक नोटिस देगी.”

यह भी पढ़ें : जीएसटी, नोटबंदी समेत इन कारणों से राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में डूबी BJP की लुटिया


इस निर्णय से भारत में काम करने वाले नेपाली श्रमिकों और नेपाल जाने वाले भारतीय पर्यटकों को भारी दिक्कत होगी. भारत नेपाल का सबसे बड़ा व्यापार सहयोगी है और उसे अधिकतर उपभोक्ता सामान की आपूर्ति करता है.

टिप्पणियां

VIDEO : नोटबंदी के बाद 99 फीसदी नोट लौटे

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार ने आठ नवंबर 2016 को 1,000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर कर दिया था और उसके बाद 2,000, 500 और 200 रुपये के नए नोट छापकर प्रचलन में जारी कर दिए. नोटबंदी से नेपाल और भूटान भी बड़े स्तर पर प्रभावित हुए थे क्योंकि वहां भारतीय मुद्रा का इस्तेमाल आम है.

(इनपुट भाषा से)



Source link

Chamma Chamma Song Video Elli Avram Fraud Saiyyan Neha Kakkar Urmila Matondkar – Chamma Chamma Song: सलमान की फेवरिट बिग बॉस कंटेस्टेंट का डांस उड़ा देगा होश, छम्मा छम्मा पर बरपाया कहर


खास बातें

  1. एली अवराम ने किया धमाकेदार डांस
  2. बिग बॉस में सलमान की रही थीं फेवरिट
  3. ‘फ्रॉड सैयां’ फिल्म का है गाना

नई दिल्ली: बिग बॉस-7 (Bigg Boss 7) में सलमान खान (Salman Khan) की चहेती कंटेस्टेंट रहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस एली अवराम (Elli Avram) ने कहर बरपा दिया है. एली अवराम ने ‘फ्रॉड सैयां (Frayd Saiyyan)’ के ‘छम्मा छम्मा (Chamma Chamma)’ सॉन्ग पर ऐसा डांस किया है कि होश उड़ाकर रख देगा. एली अवराम (Elli Avram) के इस स्पेशल नंबर का बहुत ही बेसब्री से इंतजार हो रहा था क्योंकि एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) के करियर के सबसे ज्यादा हिट गानों में से यह एक रहा है. ऐसे में  एली अवराम (Elli Avram) इस पर कैसा परफॉर्म करती हैं, इस बात पर सबकी निगाहें टिकी हुई थीं. ‘छम्मा छम्मा’ सॉन्ग को नेहा कक्कड़ (Neha Kakkar) ने गाया है.

कपिल शर्मा ने शादी पर भी नहीं छोड़ी ये हरकत, बोले- पहली बार ब्याह करवाया है, ज्यादा तजुर्बा है नहीं…Video

2.0 Box Office Collection Day 15: रजनीकांत की ‘2.0’ का चमत्कार; ‘संजू’, ‘पद्मावत’, ‘टाइगर जिंदा है’ से निकली आगे

एली अवराम (Elli Avram) ने ‘छम्मा छम्मा’ के नए वर्जन पर अपने डांस के जौहर दिखाए हैं. ‘छम्मा छम्मा (Chamma Chamma Song)’ 1998 की फिल्म ‘चाइना गेट’ से है. ओरिजनल सॉन्ग को उर्मिला मातोंडकर पर फिल्माया गया था. मनीष भट्ट निर्देशित फिल्म ‘फ्रॉड सैयां’ में एली अवराम इस गीत के रीमेक पर डांस करती दिखेंगी. हालांकि इस सॉन्ग की शूटिंग का वीडियो और कई तस्वीरें रिलीज हो गई हैं, और ये सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय भी रहे हैं.

वरुण धवन ने सोनाक्षी सिन्हा को बुलाया ‘भाभी’ और छुए पांव, एक्ट्रेस का यूं आया रिएक्शन- देखें Video

 

प्रियंका चोपड़ा और निक जोनास ईशा अंबानी की शादी में कुछ इस तरह हुए रोमांटिक, हैरान कर देगा ये Video

टिप्पणियां


एली अवराम (Elli Avram) के इस ‘छम्मा छम्मा (Chamma Chamma)’ सॉन्ग को आदिल शेख ने कोरियोग्राफ किया है. तनिष्क बागची ने ‘छम्मा छम्मा’ को रीक्रिएट किया है और नेहा कक्कड़ ने इसे गाया है. 1998 की राजकुमार संतोषी निर्देशित, ‘चाइना गेट’ में नसीरुद्दीन शाह, डैनी डेंजोंगप्पा, परेश रावल और दिग्गज अभिनेता ओम पुरी और अमरीश पुरी लीड रोल में नजर आए थए. इतनी बड़ी स्टार कास्ट के बावजूद फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई बड़ा चमत्कार नहीं कर सकी थी. लेकिन उर्मिला मातोंडकर ने इस सॉन्ग से सबको हिलाकर रख दिया था. 

 …और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें…





Source link

Stan Perron to give most of his 4 billion dollar away to charity


इस अरबपति ने दान की अपनी पूरी संपत्ति, बेटी को करनी होगी इस चीज की देखभाल

Australia के कैनबरा में व्यापारी स्टैन पेरॉन ने अपनी 2.8 अरब डॉलर की संपत्ति दान कर दी है. पेरॉन का नवंबर माह में 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया था. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, स्टैन का गुरुवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया, जिसमें परिवार के सदस्यों, मित्रों और अन्य लोगों ने भाग लिया. अपनी मौत से पहले स्टैन ने एक बयान में लिखा था कि वह अपनी संस्था स्टैन पेरॉन धर्मार्थ संस्थान को अपनी संपत्ति का अधिकांश हिस्सा दान कर रहे हैं. 

Kapil Sharma Wedding: शादी की रस्मों के दौरान उठने लगे कपिल शर्मा, गिन्नी ने ऐसे किया इशारा, देखें VIDEO

स्टैन ने लिखा था, “मैंने अपने बचपन के लक्ष्य को पूरा किया और अपने परिवार के लिए भी काफी-कुछ किया है। लेकिन मैं बहुत ही भाग्यशाली हूं कि मैंने जो कमाया है, उससे मैं वंचित लोगों की सहायता कर सकता हूं और उनके जीवन को बदलने में सक्षम हूं.” 

चुनाव हारने वाली BJP नेता की धमकी, कहा- जिसने वोट नहीं दिया उसको रुलाउंगी, देखें VIDEO
यह धर्मार्थ संस्थान वेस्टर्न आस्ट्रेलिया के बच्चों के स्वास्थ्य पर केंद्रित है, जिसकी देखरेख अब स्टैन की बेटी (52) करेंगी. स्टैन का बचपन गरीबी में बीता, लेकिन मेहनत के दम पर धीरे-धीरे उन्होंने देश भर में अपना व्यापार फैला लिया.

(इनपुट-आईएएनएस)



Source link

Mzansi Super League Paarl Rocks vs Nelson Mandela Bay Giants Tabraiz Shamsi magic viral video


साउथ अफ्रीका की टी-20 लीग (Mzansi Super League) चल रही है. जिसको काफी पॉपुलेरिटी मिल रही है. पार्ल रॉक्स (Paarl Rocks) और नेल्सन मंडेला बे जायंट्स (Nelson Mandela Bay Giants) के बीच एलिमिनेटर मुकाबला खेला गया. पार्ल रॉक्स ने बे जायंट्स को 6 विकेट से हरा दिया. तबरेज शमशी (Tabraiz Shamsi) ने शानदार परफॉर्म किया और नया कर सभी को हैरान कर दिया. तबरेज शमशी ने न सिर्फ शानदार बल्लेबाजी की बल्कि अलग तरह से जश्न भी मनाया. 

ICC T20 RANKING: कुलदीप यादव ने लगाई ‘बड़ी छलांग’, रैंकिंग के ‘इस पहलू’ से सब हैरान

जबरेज शमशी ने 4 ओवर में सिर्फ 15 रन दिए थे. मैच के 8वें ओवर में शमशी ने बेन डकैट को आउट किया और अनोखे तरह से जश्न मनाया. शमशी ने विकेट लेने के बाद पेंट से रुमाल निकाला और तेजी से हिलाने लगे. जिसके बाद वो रुमाल अचानक क डंडा बन गया. जिसके बाद वो उस डंडे को घुमाने लगे. इसे देखकर सभी खिलाड़ी हैरान रह गए. सोशल मीडिया पर ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है. 

टिप्पणियां

Ind vs Aus: इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान माइकल वॉन ने फिर की विराट कोहली की तारीफ, कही यह बात

देखें VIDEO:

 

 





Source link